शनिवार, 27 जून 2020

४५१. कोयल से

Koyal Bird l Cuckoo Bird l Full HD l Stock Footage l FREE Download ...

कोयल, 
तुम किसी भी समय 
क्यों गाने लगती हो?
इस भरपूर उदासी में,
जब सब घरों में बंद हैं,
तुम्हारी ख़ुशी का राज़ क्या है?
ज़रा हमें भी बताओ,
हम भी भर लें 
अपनी ज़िन्दगी में 
थोड़ी-सी ख़ुशी,
हम भी गा लें
तुम्हारे साथ-साथ,
तुम्हारे जितना नहीं,
तो थोड़ा-सा ही सही.

10 टिप्‍पणियां:

  1. नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा सोमवार (22-06-2020) को 'नागफनी के फूल' (चर्चा अंक 3747)' पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्त्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाए।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    --
    -रवीन्द्र सिंह यादव

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत ही सुंदर सृजन आदरणीय सर .
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  3. काश कोयल हो सके हर कोई ...
    भावपूर्ण रचना ..

    जवाब देंहटाएं
  4. तुम्हारी ख़ुशी का राज़ क्या है?
    ज़रा हमें भी बताओ,
    हम भी भर लें
    अपनी ज़िन्दगी में
    थोड़ी-सी ख़ुशी,....बहुत ही सुंदर रचना है ओंकार जी ... हर कोई दूसरा होनेा चाहता है ...#मृगतृष्णा जीवन की

    जवाब देंहटाएं
  5. वाह बहुत ही सुंदर रचना

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत ही उम्दा लिखावट , बहुत ही सुंदर और सटीक तरह से जानकारी दी है आपने ,उम्मीद है आगे भी इसी तरह से बेहतरीन article मिलते रहेंगे Best Whatsapp status 2020 (आप सभी के लिए बेहतरीन शायरी और Whatsapp स्टेटस संग्रह) Janvi Pathak

    जवाब देंहटाएं
  7. अच्छा प्रयास है सर आप लोग से आग्रह है मेरे ब्लॉग पर भी विजिट करे इससे कवी की हौसला अफजाई होती है और हमें और अच्छी रचनाओं की प्रेरणा मिलती है

    जवाब देंहटाएं