शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2019

३८५. दिल्ली

Qutubminar, Delhi, Architecture, Indian

लाल किले जितना बड़ा 
दिल्लीवालों का दिल,
यमुना जैसा छिछला 
उनका गुस्सा,
क़ुतुब मीनार जितनी ऊंची 
उनकी सोच,
जामा मस्जिद जैसे पाक 
उनके इरादे.

क्या आपको लगता है 
कि आप उस दिल्ली में हैं,
जिसमें ऐसे लोग रहते हैं?

12 टिप्‍पणियां:


  1. जी नमस्ते,

    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (२७ -१०-२०१९ ) को "रौशन हो परिवेश" ( चर्चा अंक - ३५०१ ) पर भी होगी।
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।

    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    आप भी सादर आमंत्रित है
    ….
    अनीता सैनी

    जवाब देंहटाएं
  2. यकीनन दिल्ली तो वही है... कुतुब मीनार की ऊंचाई भी कम नहीं हुई लाल किले ने भी आधुनिक और परंपरावादीदोनों तरह की सोच को अपने सीने में अपने दिल में दबाए रखा है.. पर हां सहमत हूं ये वो दिल्ली नहीं है.. जहां सब के दिलों में सबके लिए कभी प्यार होता था #Delhi Badal Gayi बहुत ही विचारणीय और प्रभावी कविता लिखी आपने..💐👌

    जवाब देंहटाएं
  3. इशारों के माध्यम से गहरी बात ...
    बहुत लाजवाब ...

    जवाब देंहटाएं
  4. hmmmm..दिल्ली ab bhi wahi hai jo pehale thi ....:) bas rehane wale badal gye hain

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत अच्छा लेख है Movie4me you share a useful information.

    जवाब देंहटाएं
  6. ऐसे लोग रहते थे ...
    बहुत खूब !

    जवाब देंहटाएं
  7. वाह क्या सुंदर लिखावट है सुंदर मैं अभी इस ब्लॉग को Bookmark कर रहा हूँ ,ताकि आगे भी आपकी कविता पढता रहूँ ,धन्यवाद आपका !!
    Appsguruji (आप सभी के लिए बेहतरीन आर्टिकल संग्रह) Navin Bhardwaj

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत ही उम्दा लिखावट , बहुत ही सुंदर और सटीक तरह से जानकारी दी है आपने ,उम्मीद है आगे भी इसी तरह से बेहतरीन article मिलते रहेंगे Best Whatsapp status 2020 (आप सभी के लिए बेहतरीन शायरी और Whatsapp स्टेटस संग्रह) Janvi Pathak

    जवाब देंहटाएं