शनिवार, 24 जनवरी 2015

१५५. कुत्ते



कुत्ते वही अच्छे लगते हैं,
जो दुम हिलाते हैं,
विदेशी नस्ल के कुत्ते दुम हिलाएं,
तो और भी अच्छे लगते हैं. 
ऐसे कुत्तों पर बहुत प्यार आता है,
उन्हें सहलाने का मन करता है,
उनके गले में रस्सी डालकर 
उन्हें टहलाने का मन करता है. 

जो कुत्ते भौंकते हैं,
उनसे डर लगता है 
कि कहीं काट न लें,
उनसे छुटकारा ही अच्छा है,
वे सड़कों पर ही ठीक होते हैं. 

दरअसल हम चाहते हैं 
कि कुत्ते देखने में तो कुत्तों की तरह हों,
पर उनका व्यवहार इंसानों जैसा हो. 

6 टिप्‍पणियां:

  1. दरअसल हम चाहते हैं
    कि कुत्ते देखने में तो कुत्तों की तरह हों,
    पर उनका व्यवहार इंसानों जैसा हो.
    बहुत सुन्दर.

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह क्या बात है ... गहरी बात कह दी रचना के माध्यम से ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुंदर प्रस्तुति ...कुत्ते वफादार होने के साथ समझदार भी होतें हैं...कभी-कभी तो लगता है कि कुत्ते इंसानों से ज्यादा वफादार हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  4. उम्दा....बेहतरीन प्रस्तुति के लिए आपको बहुत बहुत बधाई...
    नयी पोस्ट@मेरे सपनों का भारत ऐसा भारत हो तो बेहतर हो
    मुकेश की याद में@चन्दन-सा बदन

    उत्तर देंहटाएं