रविवार, 5 जनवरी 2014

११२. इंतज़ार

तुम्हारे काले बालों के बीच 
एकाध बाल जो सफ़ेद हो गए हैं,
अच्छे लगते हैं,
तुम्हारे चेहरे की एकाध झुर्रियाँ 
अच्छी लगती हैं,
तुम्हारे एकाध दांत,
जो चटख गए हैं 
अच्छे लगते हैं.

आजकल तुम्हारा चेहरा 
नया सा लगता है,
तुम्हारी मुस्कराहट 
अलग सी लगती है,
आजकल तुम 
कुछ नई सी लगती हो.

सुनो, तुम पूरी तरह बूढ़ी कब होओगी?

5 टिप्‍पणियां:

  1. बहुतसुंदर !

    पर इधर

    हम से तो किसी ने नहीं पूछा
    ना एक बाल के सफेद होने पर
    ना ही एक काला बाल बचने पर
    बूढ़े बालों से होते हैं या सालों से
    कोई कुछ बता जाता है कोई कुछ
    बस इतना जरूर समझ में आता है
    समय कभी बूढ़ा नहीं होता है :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. कभी नहीं :-)
    प्रेम बूढ़ा कहाँ होने देता है !!!

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  3. धीरे धीरे बदलती पसंद पर आशा और ओर प्रतीक्षा आने वाले कल की ही ... सुनो तुम बूढी कब होओगी

    उत्तर देंहटाएं